महिलाओं के साथ पुरषों में भी बढ़ रहा बांझपन : डा. सुमिता सोफत

महिलाओं के साथ पुरषों में भी बढ़ रहा बांझपन : डा. सुमिता सोफत

QUICK INQUIRY


लुधिआना २० अगस्त ( सहगल, बी.एन 469/8

बाँझपन के लिए आज तक महिलाओं को दोषी माना जाता रहा है , लेकिन पुरुष भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकता है | डा. सुमिता सोफत अस्पताल की प्रसिद्ध बांझपन रोग विशेषज्ञ डा. सुमिता सोफत ने बताया की जब  पुरषों की प्रजनन करने की क्षमता समाप्त  हो जाती है तो उसे भी बाँझपन कहा जाता है | इस बात का पता तब चलता है जब कोई दम्पति काफी कोशिशों के बावजूद  भी संतान सुख प्राप्त करने में विफल रहता है |

आई.वी.ऍफ़ विशेषज्ञ डा. सुमिता सोफत जी ने बताया बच्चा न पैदा होने के पीछे स्पर्म की खराब गुणवत्ता होती है और इसके लिए खान-पान की खराब आदतें, नशे की लत व आलसपूर्ण जीवनशैली अदि कारन होते हैं | जब पुरषों में शक्राणुओं की गिनती जीरो हो तो ICSI तकनीक का सहारा लिया जाता है | उन्होंने कहा की किसी अनुभवी चिकत्सक से पुरुष बांझपन का उपचार करवा सकता है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY