नार्मल डिलीवरी क्या है ? नॉर्मल डिलीवरी की सम्भावना को बढ़ाने के लिए टिप्स

नार्मल डिलीवरी क्या है ? नॉर्मल डिलीवरी की सम्भावना को बढ़ाने के लिए टिप्स

QUICK INQUIRY


क्या है नार्मल डिलीवरी?

डिलीवरी (प्रसव) की वो प्रक्रिया है, जिसमे की शिशु का जन्म प्राकृतिक तरीके से होता है और वो भी योनि मार्ग से | यदि किसी गर्भवती महिला को कोई समस्या न हो तो, नॉर्मल डिलीवरी की सम्भावना बढ़ जाती

है | नॉर्मल डिलीवरी को बढ़ाने वाली कुछ संभावनाएं हमने यहाँ पर लिखी है :

  • जिस महिला की पहले नार्मल डिलीवरी हुई हो |
  • महिला को किसी प्रकार की शारीरिक समस्या न हो |
  • गर्भावस्था के दौरान किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी न हुई हो |
  • महिला का ब्लड प्रेशर, हिमोग्लोबिन और ब्लड शुगर बिलकुल सही मात्रा में हो |
  • परंतु यह ध्यान रखें की यह सब कारक किसी भी प्रकार की गारंटी नहीं करते हैं |

यदि अपने IVF के द्वारा गर्भपात धारण किया है तो , समय समय पर IVF Centre In Punjab में जाकर अपने फर्टिलिटी डॉक्टर से परामर्श करें | जो महिलाएँ बांझपन के गुज़र रही हैं , वह IVF की मदद से गर्भपात की सम्भावना बढ़ जाती है | IVF Cost आपकी स्थिति के ऊपर निर्भर करेगी क्योंकि डॉक्टर पहले जांच करेगा और आपके लिए फिर ट्रीटमेंट प्लान त्यार करेगा |

नार्मल डिलीवरी कितना समय लेती है ?

नार्मल डिलीवरी का पूरा समय महिला की स्थिति पर निर्भर करता है | जिस महिला ने पहली बार गर्भ धारण किया है उनको 7 से 8 घंटे का समय लगता है | जो महिलाएँ दूसरी बार गर्भवती हुई हैं उनको कम समय लगता है |

कुछ बेहतरीन टिप्स जो गर्भवती महिला को नार्मल डिलीवरी में सहायता करता है :

बिलकुल भी तनाव न लें

नार्मल डिलीवरी की संभावना को बढ़ाने के लिए महिला को तनाव से दूर रहना चाहिए | यह करने के लिए आप मधुर संगीत सुने, ध्यान लगाएँ, किताबें पढ़े या वो करें जिससे आपके मन में अच्छे विचार आएं |

कोई भी गलत बात न सोचें

इस समय आपको कोई भी गलत विचार अपने मन में नहीं आने देना चाहिए |किसी भी सूनीसुनाई बात पर ध्यान मत दें | किसी और के अनुभव को अपने अनुभव से मत जोड़े | आपकी स्थिति किसी और से अलग होगी |

प्रसव के बारे में सही से समझ लें

जब आपके पास सही जानकारी होगी तो वह आपकी स्थिति को बेहतर रखेगा | यही बेहतर होगा की आप डॉक्टर से बात करें और समझ लें आपकी स्थिति में क्या फ़ायदेमंद हो सकता है |

अपने आसपास अपनों को रखें

गर्भवती महिला के लिए यही बेहतर होता है की वह अपने आस पास उन लोगों को रखें जो आपको मजबूत बनाते हैं | इससे गर्भवस्था में नार्मल डिलीवरी की सम्भावना बढ़ जाती है |

बेहतरीन डॉक्टर चुने

गर्भवती महिला के लिए यह ज़रूरी है की वह डॉक्टर का चयन बहुत धयान से करें | यह ज़रूरी है की आप डॉक्टर वो चुने जो आपकी स्थिति को अच्छे से समझे और आपको सही सलाह दे | वह नार्मल डिलीवरी के लिए भी आपकी सहायता करेंगे |

नीचे के हिस्से को सही से मालिश करें

सातवें महीने में यह बहुत ज़रूरी है की आप निचे के हिस्से को बहुत सही से मालिश करें | यह करने से डिलीवरी में बहुत ही आसानी हो जाती है और आपको किसी भी तरह का तनाव भी महसूस नहीं होता है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY