क्या यह सच है की पुरषों में बांझपन का कारण कोरोना का टीका हो सकता है ?

0
194
क्या यह सच है की पुरषों में बांझपन का कारण कोरोना का टीका हो सकता है ?

पिछले 2 सालों से हमने किस विषय पर सबसे ज़्यादा चर्चा की है ? कोरोना और उससे छुटकारा कैसे पाया जा सके | इसके साथ ही जब से वैज्ञानिकों ने कोरोना के टीके का आविष्कार किया है तब से हम सब बहुत ही अलगअलग बातों सामने आ रही हैं | जैसे की, ‘क्या कोरोना टीका लगवाने से बांझपन पर कोई प्रभाव पढ़ सकता है?’

वैज्ञानिकों के आधार पर यह देखा गया है की इस वैक्सीन के द्वारा कोई भी नुकसान नहीं होता है | देश में बहुत ही अलगअलग बातें देखी गई हैं की जैसे की:

  • पोलिया
  • खसरा
  • जो भी अलग वैक्सीनेशन आई हैं

इन वैक्सीनेशन के आने पर लोगों में अलगअलग राय थी की क्या सही है और क्या गलत | यही सामान्य स्थिति कोरोना की वैक्सीन के आने पर देखी गई है |

कोरोना वैक्सीन और बांझपन

कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों में एक हड़कंप जैसा मच गया था | इसे को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात पर ध्यान दिया की कोरोना वैक्सीन बहुत ही ज़्यादा लाभकारी एंड सुरक्षित है | इसके साथ ही उन्होंने ने इस बात पर भी ज़ोर दिया की इस वैक्सीन को लगवाने के बाद ना ही पुरुष और महिला प्रजनन प्रणाली पर कोई भी गलत प्रभाव नहीं पड़ता है | यह सिर्फ और सिर्फ अफवाएं हैं जिनपे बिलकुल भी भरोसा नहीं किया जाना चाहिए |

लोगों को यह समझना बहुत ज़रूरी है की हर बात पर भरोसा न करें क्यूंकि ऐसा कहीं भी नहीं देखा गया है की यदि आपने कोरोना वैक्सीन लगवा ली है और आप माँबाप बनने का प्रयास कर रहे हैं तो वैक्सीन यह कारण नहीं हो सकता को आपको माँबाप बनने में परेशनी हो | यह समझना ज़रूरी है की कई दम्पति जो माँबाप बनने को कोशिश कर रहें है उनको इनफर्टिलिटी (Infertility) की समस्या हो जिसकी वजह से दिक्कत हो रही हो | तो यही सही है की आप बेस्ट IVF Centre in Punjab में जाकर अपनी स्थिति की अच्छे से जांच करवाएं और अपने लिए सबसे बेहतरीन उपचार शुरू करवाएं | जब आप हमारे infertility clinic in Ludhiana में आकर Dr. Sumita Sofat से परामर्श करेंगे तो आप बेहतर समझ पाएँगे की आपके लिए क्या गलत है और क्या सही |

कोरोना का वैक्सीन प्रजनन क्षमता पर कोई बुरा प्रभाव नहीं डालता है

कोरोना वैक्सीन की जितनी भी वैक्सीन मौजूद हैं उनमे से कोई भी वैक्सीन प्रजनन क्षमता पर बुरा असर नहीं डालती है | इसे लोगों में पोहचने से पहले जानवरों पर परीक्षण होता है और उसके बाद इंसानो पर, इससे यह समझ आ जाता की इसके कोई साइडइफेक्ट्स तो नहीं हैं | जब सब कुछ सही हो और सफल हो उसके बाद यह इंसानो के इस्तेमाल के लिए दिया जाता है |

डॉक्टर से परामर्श करें

वैक्सीन और बांझपन का कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है , तो यह कहना की वैक्सीन लगवाने के बाद माँबाप बनने में दिक्कत होगी तो यही बेहतर है की वैक्सीन न लगवाएँ | ऐसा अगर आप सोच रहें हैं तो बहुत ही गलत है | यह ज़रूरी है की इस महामारी को रोकने के लिए आपको वैक्सीन लगवानी बहुत ही ज़रूरी है ताकि आप और आपके आसपास के लोग सुरक्षित रह सकें |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY